Breaking News
Home / देश / balbir singh sidhu || पंजाब Panjab सरकार द्वारा शुरू की गई तंदुरुस्त पंजाब मिशन ||

balbir singh sidhu || पंजाब Panjab सरकार द्वारा शुरू की गई तंदुरुस्त पंजाब मिशन ||

फाज़िलका से सुरिन्दरजीत सिंह की रिपोर्ट ।

पंजाब सरकार द्वारा शुरू की गई तंदुरुस्त पंजाब मिशन, डेपो मुहिम और घर घर हरियाली सहित अन्य स्कीमों का जायजा लेने के लिये पंजाब के पशु पालन और मछली पालन डेयरी विकास और कीर्ति विभाग के कैबिनेट मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू पहुंचे फाज़िलका सरकार की इन स्कीमों के तहत जिले के उच्च अधिकारियों के साथ किया विचार विमर्श ।

पंजाब सरकार के पशु पालन, मछली पालन, और डेयरी विकास मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू द्वारा आज फाजिल्का जिला भर के उच्च अधिकारियों से सरकार द्वारा चलाई जा रही इन स्कीमों का लेखा-जोखा लिया गया जहां इन स्कीमों का जायजा लेते हुए उच्च अधिकारियों को हिदायतें जारी करते हुए शहर के अलग-अलग जगहों पर पौधे लगाने और पौधों की सुरक्षा के लिए ट्री गार्ड लगाने जाने को यकीनी बनाए जाने के आदेश दिए और इसके साथ ही डेपो मुहीम के तहत जिले भर में किए गए कामौ का रिव्यू भी किया गया और साथ ही सरकार द्वारा शुरू की गई सभी योजनाओं का लाभ हर एक जरूरतमंद तक पहुंचाऐ जाने को यकीनी बनाए जाने के आदेश भी जारी किए गए जहां अधिकारियों के साथ की गई बैठक के बाद कैबिनेट मंत्री द्वारा जिला प्रबंधकी कंप्लेंकस के आंगन में हरियाली मुहिम के तहत पौधे भी लगाए गए ।

जहां फाजिल्का के जिला प्रबंधकी कंपलेक्स में अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान कैबिनेट मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पंजाब सरकार पंजाब में नशों पर काबू पाने के लिए काफी हद तक कामयाब हुई है और आने वाले समय मैं पंजाब में नशे को जड़ से खत्म किया जाएगा और इसके साथ ही बीते दिनों पत्रकारों पर हुए हमले पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि सरकार मीडिया कर्मियों की सुरक्षा के लिए पूरी तरह वचनबद्ध है उन्होंने कहा कि पंजाब में चल रही रेत की नाजायज माइनिंग को रोकने के लिए सख्त कानून बनाए जा रहे हैं हरियाली मुहीम के तहत उन्होंने कहा कि शहर को हरा भरा बनाने के लिए प्रशासन के साथ-साथ आम लोगों को भी आगे आना होगा उन्होंने कहा कि आम जनता के सहयोग से ही शहर को हरा-भरा बनाया जा सकता है वही शहर में घूम रहे आवारा पशुओं पर उन्होंने कहा कि पंजाब के लोगों द्वारा ही पशुओं की सही नस्लों का चुनाव करके उनका पालन पोषण किया जाना चाहिए और वह पंजाब के वातावरण के हिसाब से ही पशुओं को रखें ना की बाहर से लाएं गए पशु जो पंजाब के वातावरण पर सटीक नहीं बैठते उनको अपने लाभ के लिए यहां पर पाला जाता है लेकिन कुछ सालों बाद वह दूध देना छोड़ देते हैं जिसके बाद लोगों द्वारा उन्हें आवारा छोड़ दिया जाता है उन्होंने कहा कि आवारा पशुओं की रोकथाम के लिए लोगों को पशुओं की सही नसलो का पालन किया जाना चाहिए ताकि इस समस्या से छुटकारा मिल सके ।

 

Check Also

PM Modi आज लेगें Cabinet की पहली बैठक

अमित शाह मिल सकता है वित्त मंत्रालय का दरजा Report By शिवानी डोभाल समाचार India …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *