Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / दो लाख रुपये हो किसानों की वार्षिक आय: विजय शास्त्री किसान महाकुंभ में लाखों किसान/मजदूर करेंगे प्रतिभाग

दो लाख रुपये हो किसानों की वार्षिक आय: विजय शास्त्री किसान महाकुंभ में लाखों किसान/मजदूर करेंगे प्रतिभाग

बबलू सैनी
रुड़की/ समाचार इंडिया

भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के जिलाध्यक्ष विजय शास्त्री ने कहा कि चौ. राकेश टिकैत के आदेशानुसार गत वर्षों की भांति इस वर्ष भी किसान महाकुम्भ 16, 17 व 18 जून 2019 को हरिद्वार में होने जा रहा है। जिसमें लाखों की संख्या में किसान, मजदूर बढ़-चढ़कर भाग लेंगे। इस आंदोलन में प्रदेश व केंद्र सरकार की किसान व मजदूर दमनकारी, आर्थिक, शोषणकारी नीतियों से किसानों को अवगत कराया जाएगा। साथ ही इन नीतियों के खिलाफ रणनीति बनाकर किसान क्रांति यात्रा निकाली जाएगी।
उन्होंने प्रशासनिक भवन में आयोजित पत्रकार वार्ता में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार लगातार किसानों व मजदूरों का उत्पीड़न करने में लगी हुई है। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि सरकारी कर्मचारियों की तर्ज पर किसान मूल्य आयोग बनाकर सातवें वेतन आयोग की तरह पांचवा किसान मूल्य आयोग लागू किया जाए, एक सामान्य कर्मचारी 1967 में एक माह वेतन से 1 कुंतल गेंहू खरीदता था, आज 30 कुंतल गेहूँ खरीद लेता है, जो किसान को दो-दो हजार रुपये दिए जा रहे है, उन्हें दो-दो लाख रुपये दिए जाए। साथ ही कहा कि विदेशों पर आत्मनिर्भता खत्म करने, प्रदूषण खत्म करने व किसान- मजदूर की हालत सुधारने के लिए विदेशी मुद्रा बढाना के लिए, सभी कारो के इंजन प्योर एथेनॉल से चलने वाले बनाये जाए। उन्होंने कहा कि भुगतान के नाम पर सरकार के पास पैसा नही है और विधायकों की तनख्वाह व भत्ते 2 गुने किये जा रहे है, सरकार बस किसान का वोट पाकर ओर सत्ता हासिल कर ऐशो-आराम कर रहे है। उन्होंने यह भी कहा कि 30 से 40 वर्षो के अंतराल में जिसकी जितनी आय बढ़ी, बिजली का बिल भी उसी प्रकार तय किया जाए ओर किसान व मजदूर पर 50 पैसे यूनिट से ज्यादा न लिया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि गन्ना भुगतान के मामले में प्रदेश सरकार सबसे पीछे चल रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि रेलवे के पीड़ित किसानों को यदि 24 जून तक न्याय नही मिला तो वह रेलवे मंत्री पीयूष गोयल के आवास/कार्यालय पर पहुँचकर प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे। पत्रकार वार्ता में मंडल अध्यक्ष संजय चौधरी, जिलाध्यक्ष विजय शास्त्री, ओम प्रकाश, कुणाल सैनी, कुलदीप सैनी जिला महामंत्री, कुंवर प्रताप सिंह सैनी, मोहम्मद ईनाम, इरफान, इरशाद, महबूब, अरशद, रोहित सैनी आदि मौजूद रहे।

Check Also

ग्राम्य उत्पादों की marketing को मिले सर्वोच्च प्राथमिकता

अजीविका परियोजना की समीक्षा बैठक पर बोले -मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत Report By शिवानी डोभाल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *