Breaking News
Home / उत्तराखण्ड / Uttarakhand में 65% से ज्यादा स्कूल नहीं झेल पायगें भूकंप

Uttarakhand में 65% से ज्यादा स्कूल नहीं झेल पायगें भूकंप

Report By

शिवानी डोभाल।।

क्यो हो गई खस्ता हालत उत्तराखंड शिक्षा के मंदिरों की

उत्तराखंड में 65 % से ज्यादा स्कूल भवन 7 तीव्रता की स्पीड से अधिक का भूकंप नही झेल सकता है।आपदा प्रबंधक विभाग के सर्वे में बताया गया है कि स्कूलों के निर्माण में मानकों का पालन नही किया। जिसके कारण स्कूलों की व्यवस्था खराब बनी हुई है।इस सर्वे के बाद शिक्षा विभाग को रिपोर्ट दे दी गई है।रिपोर्ट में बताया गया है कि स्कूलो को सुधारने के लिए करीब 2 करोड़ 95 अरब का खरचा लगेगा।

वही आपदा प्रबंधक विशेषज्ञ डॉ गिरीश चंद्र जोशी का कहना है कि रिपोर्ट बनाने वाली टीम ने स्कूलों के  निर्माण के लिए  राय नही ली साथ ही कहा कि कई जगह स्कूल की छत मोटी है और कई जगह कॉलम बीम मानकों के अनुकुल नही है ।वही भूंकप आने पर भवनों का गिरना खतरे से खाली नही है।वही बताया जा रहा है कि स्कलों का निर्माण ग्राम समिति और ग्राम प्रधानों के द्वारा किया गया जिसमें उन्होने अच्छे माल का इस्तेमाल नही किया । वैज्ञानिक लगातर उत्तराखंड क्षेत्र में भूकंप आने चेतावनी दे रहे है साथ ही लोगो को अलर्ट रहने का भी कहा ।

Check Also

ग्राम्य उत्पादों की marketing को मिले सर्वोच्च प्राथमिकता

अजीविका परियोजना की समीक्षा बैठक पर बोले -मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत Report By शिवानी डोभाल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *